Article Post

मंगलवार, 1 अक्तूबर 2019

command promt ko kaise enable karege

रजिस्ट्री में बदलाव के अलावा हैकिंग का दूसरा मुख्य टूल कमांड प्राप्त है। ऊपर बताया जा चुका है कि कमांड प्राम्प्टस के जरिए कमांड देकर आप विंडोज को बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते है। विंडोज एक्सपी, विस्टा औऱ विंडोज 7  में कमांड प्राम्प्ट प्रोग्राम और उसके बाद एक्सेसरीज में जाकर हासिल किए जा सकते है। विंडोज 8 में कमांड प्राम्प्टस तक पहुंचने के लिए स्टार्ट क्लिक करके सर्च बाॅक्स में कमांड प्राम्प्ट टाइप करना होगा। 
कई बार ऐसा भी होता है कि कमांड प्राम्प्ट को आपको एडमिनिस्ट्रेटर के जरिए चलाना होता है, हालांकि एक्सपी में ऐसा नहीं होता है। विस्टा या विंडोज 7 औऱ 8 में एडमिनिस्ट्रेटर के जरिए कमांड प्राम्प्ट चलाने के लिए  आपको सिर्फ इतना करना है कि इसके आईकाॅन पर राइट क्लिक करना है और वहां रन एज एडमिनिस्ट्रेटर सेलेक्ट करना होगा।
 command promt ko kaise enable karege
हमारा सुझाव है कि आप विंडोज 7 और 8 में कमांड प्राम्प्ट को टास्कबार में पिन कर दे। इससे इसका इस्तेमाल बहुत आसान हो जाएगा। इसके लिए आईकाॅन पर राइट क्लिक करें और पिन टू टास्कबार के आॅप्शन को चुने। इससे आप कंट्रोल औऱ शिफ्ट के जरिए बतौर एडमिनिस्ट्रेटर

राइट क्लिक मेनू में आइटम जोड़े 

आप विंडोज में किसी भी जगह पर खाली एरिया में माउस को राइट क्लिक करते है तो पाॅप अप विंडोज में कई किस्म के आँप्शन दिखाई देते है। आमतौर पर कट, पेस्ट, सिलेक्ट, डिक्शनरी आदि के आँप्शन इमसे आते हैं। कितना अच्छा होता कि आप इसमे और ज्यादा फीचर्स के आँप्शन जोड देते। फिर ज्यादातर फीचर आपके माउस के राइट क्लिक पर आ जाते । 
आमतौर पर जब कि आप कोई नया प्रोग्राम डाउनलोड करते है तो उसे डेस्कटाॅप पर सेव करते है औऱ कुछ ही दिन के बाद आप डेस्कटाॅप ही हालत ऐसी हो जाती है कि आफ वहां प्रोगाम के आईकान आसानी से नहीं है खोज पाते बै। इसका भी समाधान यहीं है कि आप माउस के राइट क्लिक में कुछ प्रोग्राम को जोड दे।
इसके लिए सबसे पहले Regedit  को लांच करें और उसे key  को एक्सपैंड करें, जैसे   HKEY_CLASSES_ROOT_DICTIONARY/BACKGROUP/SHELL   और वहां नेविगेट करें। अब KEY को राइट क्लिक करें और फिर न्यू औऱ key क्लिक कर दे। अब उस प्रोग्राम का नाम टाइप करें, जिसे आप मेनू में शामिल करना चाहते है। मिसाल के तौर पर आप वर्ड पैड को उसमें शामिल करना चाहते हैं। तो इस नए key को सिलेक्ट करें, राइट क्लिक करें, फिर न्यू और key चुने ताकि subkey बनाई जा सके। अब इस कमांड को एक नाम दें। हमारा सुझाव है कि आप नाम देने के लिए लोअर केस के अक्षरों का इस्तेमाल करें। 
अब सब की को सिलेक्ट करें और राइट पैन में डिफाल्ट को राइट क्लिक करें। अब write.exe टाइप करें और ओके पर क्लिक कर दे। इस तरह से आप कितने भी प्रोग्राम राइट क्लिक के मेनू में जोड़ सकते है। अगर यह टिवक काम नहीं करता है तो इसका मतलब है कि आपको प्रोग्राम्स के फाइल की एक्जैक्ट लोकेशन का इस्तेमाल करना होगा। मिसाल के तौर पर आपको फाइल तक पहुंचने के लिए c:/window/system32/write.exe टाइप करना होगा 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

In Feed