Article Post

मंगलवार, 14 मई 2019

ftp server kaise kaam kerta hai


FTP सर्वर कैसे काम करता है

सामान्य वेब सर्वर के समान इंटरनेट पर FTP सर्वर भी होते है। अनेक संगठन व कंपनियां फाइलों को वितरीत करने के लिए FTP सर्वर को प्रयोग करती है। जब यूजर कुछ डाउनलोड करने के लिए जुड़ता है तो उस FTTP  की अपेक्षा FTP  से जोड़ दिया जाता है। FTP सर्वर को दो भागों में विकसित विभक्त किया गया है।


  1. एनोनिमिअस सर्वर Anonymous server
  2. नाॅन एनोनिमिअस  सर्वर Non Anonymous server  

अत: FTP का सबसे अधिक लोकप्रिय औऱ सामान्य रूप एनोनिमिअस सर्वर है इस सर्वर से जुड़ने व फाइल ट्रांसफर की सेवा के लिए यूजर को कोई पासवर्ड़ की आवश्यकता नहीं पड़ती है। वह केवल अपना ई-मेल एड्रेस का उपयोग करके FTP का कार्य कर सकता है औऱ यदि यूजर नाॅन एनोनिमिअश सर्वर का प्रयोग करता है तो उसे इसमें FTP अधिकार प्राप्त करना , एक सरल प्रक्रिया होती है।



 इस अधिकार को प्राप्त करने के लिए cz.proxy.usr संशोधन किया जाता है जिसमे आप निम्न शब्द टाइप करते है ::ftp=ftpserv.mylib.org इस पंक्ति को टाइप करने के  बाद   ftpserv.mylib.org के स्थान पर वांछित FTP सर्वर के हाॅस्ट का नाम टाइप किया जा सकता है।


जब Ezproxy अधिकार संबंधी आग्रह प्राप्त करता है। तो यह FTP  सर्वर से यूजर के कंप्यूटर को कनेक्ट कर देता हैय़ यदि एफ टी पी (FTP)  सर्वर की लाॅग इन सफलता प्रस्तुत करता है तो दूरस्थ यूजर FTP प्रोटोकाॅल एक क्लाइंटर सर्वर माॅडल पर आधारित प्रणाली है। FTP  प्रयोग के लिए यूजर को स्वयं की पीसी में FTP  सर्वर करना होता है यूजर विंडो एनटी में उपलब्ध FTP  क्लाइंट साॅफ्टवेयर प्रोग्राम का उपयोग कर सकता है


FTP  प्रोटोकाॅल TCP  का उपयोग करके संवाद सफल बनाता है औऱ हाॅस्टों के मध्य कम्युनिकेशन सेशन स्थापित करता है। FTP सर्वर पर FTP डोमेन क्रियाशील रहता है। यह डोेमेन FTP आदान प्रदान को संभालता है जब FTP क्लाइंट सर्वर सम्पर्क स्थापित करता है तो यह डोमेन यूजर से उसका अकाउंट नंबर नाम और पासवर्ड पूछता है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

In Feed