Article Post

रविवार, 22 सितंबर 2019

Wireless Printing kaise connect kare-वायरलेस प्रिंटर कैसे कनेक्ट करें

 Wireless Printing सुनने में बहुत आसान है लेकिन इसके कनेक्शन स्थापित करना काफी जटिल काम है। केबल वाले प्रिंटर के मुकाबले बिना केबल के प्रिंटिंग का कनेक्शन मुश्किल है

केबल वाले printer का कनेक्शन बहुत आसान है। आपको सिर्फ प्रिंटर का केबल चुनना है और उसे कंप्यूटर के साथ कनेक्ट कर देना है। बाकी सारे काम कंप्यूटर खुद व खुद कर देता है। इन दिनों ऐसे प्रिंटर आ गए हैं, जिन्हें आप कनेक्ट करेंगे तो अपने आप उसका इंस्टाॅल हो जाएगा औऱ आपका डिवाइस प्रिंटिग के लिए तैयार हो जाएगा।

इसके मुकाबले wireless प्रिंटर का कनेक्शन अपेक्षाकृत ज्यादा मुश्किल है। अगर सारी चीजें बहुत सही तरीके से हो रही हों, तब भी उसे कनेक्ट करना जटिल होगा।

आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि वायरलेस प्रिंटिग के कई तरीके हैं। एक तरीका ब्लूटूथ का है, यह भी वायरलेस प्रिंटिग है तो इंफ्रारेड कनेक्शन वाली प्रिटिंग भी वायरलेस प्रिंटिंग है। लेकिन ज्यादातर लोग जब वायरलेस प्रिंटिग की बात करते हैं तो उनका मतलब वाई-फाई कनेक्शन वाली प्रिंटिंग से होता है।

अगर आप सिर्फ वाई-फाई के जरिए वायरलेस प्रिंटिंग की बात करें तब भी इसे कनेक्ट करने के कई तरीके हैं। और ये तरीके इस बात पर निर्भर करते हैं कि आपके पास कौन सा प्रिंटर है अलग करने का तरीका बदल जाता है, उसे कनेक्ट करने के स्टेप्स बदल जाते हैं।

Wireless Printer के सिर्फ तरीके अलग नहीं है, इनके कनेक्शन भी कई किस्म के हैं, मिसाल के तौर पर अगर आप प्रिंटर को किसी नेटवर्क के साथ कनेक्ट करना चाहते हैं तो उसका तरीका अलग है। अगर आप प्रिंटर को अपने होम उसका तरीका अलग है और अगर आप प्रिंटर को स्मार्ट फोन या टेबलेट के साथ कनेक्ट करना चाहें तो उसके लिए अलग  तरह के काम करना होगा।

जब आप इतने तरह के फर्क समझ रहे हैं तो एक फर्क यह भी जान लेना चाहिए कि कोई भी वाई-फाई डिवाइस चाहे वह प्रिंटर वह तीन किस्म के अलग-2 वाई-फाई मोड को सपोर्ट कर सकता हैं। ये मोड हैं---ॉॉ
  •     इंफ्रास्ट्रक्चर
  •     एडहाॅक
  •     वाई-फाई डायरेक्ट

इंफ्रास्टक्चर मोड के लिए एक वाई फाई एक्सेस प्वाइंट की जरूरत होती है। यह आमतौर पर रूटर में बना होता है। इसके पीछे यह आइडिया है कि आपके नेटवर्क से जितने भी डिवाइस जुड़ते है, वो इसी एक्सेस प्वाइंट के जरिए जुडें। अगर आपके पास एक्सेस प्वाइंट के साथ नेटवर्क है तो सारे वाई-फाई डिवाइस इसके जरिए जुडेगे। हर किस्म का वाई-फाई प्रिंटर इस मोड को सपोर्ट करता है। इसलिए वायरलैस प्रिंटिग की सेटिंग के बारे में बताते हुए नेटवर्क और एक्सेस प्वाइंट के बारे में  अलग से बताने की जरूरत नहीं है। आपका आफिस का नेटवर्क हो, उसके रूटर में एक्सेस प्वाइंटर होगा।

इन दिनो वैसे भी घरेलू नेटवर्क में कंप्यूटर, लैपटाॅप, स्मार्ट फोन आदि सारे डिवाइस एक एक्सेस प्वाइंट से जुडे होते हैं. इसी के साथ आपको प्रिंटर जोडना होता है। बस आपको नेटवर्क का यूजरनेम और पासवर्ड जरूर पता होना चाहिए।

सो सबसे पहले एक्सेस प्वाइंट कनेक्शन की बात करते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप प्रिंटर के ड्राइवर को जिस कंप्यूटर में इस्टाॅल करेंगे, वह कंप्यूटर नेटवर्क से कनेक्टेड होना चाहिए। सो, इसमे आपको सिर्फ दो स्टेप पूरे करने हैं। सबसे पहले प्रिंटर और नेटवर्क के बीच में वाई-फाई कनेक्शन स्थापित करना है और ड्राइवर को इंस्टाॅल करना ताकि प्रिंट जाॅब प्रिंटर तक भेजा जा सके।



 वाई-फाई कनेक्शन कैसे स्थापित करेंगे, यह आपके प्रिंटर के माँडल पर निर्भर करेंगा। कुछ मामलो में प्रिंटर मेनू में सेटअप विजार्ड मिल जाएगा, जो अपने आप हर यूजरनेम और पासवर्ड डालना है। कुछ मामलो में यह काम आपको  मैनुअली भी  करना पड़ सकता है। कई बार आपको प्रिंटर के सेटअप गाइडलाइन को देखना चाहिए। उससे पता चल जाएगा कि आपको कनेक्शन के लिए कौन सा तरीका अपनाना है। आप सेटअप गाइडलाइन प्रिंटर बनाने वाली कंपनी की वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकते है।

आप चाहें तो डायरेक्टरी भी कनेक्ट कर सकते हैं। अगर आपका प्रिंटर इस लायक हुआ तो आप उसे सीधे किसी भी वाई-फाई कनेक्टेड से जोड सकते है और प्रिंटिग का काम कर सकते हैं। इसके लिए आपको एडहाॅक या डायरेक्ट वाई-फाई मोड की जरूरत होगी।


पहले बिना एक्सेस प्वाइंट के वायरलेस कनेक्शन के लिए एडहाॅक मोड का इस्तेमाल किया जाता था। वाई-फाई डायरेक्ट मोड बाद में आया है, लेकिन अब यब ज्यादा लोकप्रिय हो गया है। अगर आपका सिस्टम इस मोड को सपोर्ट नहीं करता है तो आप बिना एक्सेस प्वाइंट के वाई- फाई कनेक्शन से नहीं जुड सकते हैं। आपका प्रिंटर एडहाॅक मोड या डायरेक्ट मोड को सपोर्ट करता है या नहीं इसे आप प्रिंटर के मैनुअल से चेक कर सकते हैं। डायरेक्ट का इस्तेमाल किया जाता है।


आप प्रिंटर खरीदते समय अगर इस बात का ध्यान रखें तो आप ऐसा  प्रिंटर खरीदेगे, जिसमे वाई-फाई डायरेक्ट का आँप्शन हो। उसे घर लाकर आप उसके वाई-फाई डायरेक्ट के आँप्शन को On करेंगे औऱ यह  आपको उपलब्ध नेटवर्क की जानकारी देगा, जिसमे डालना है और आपका प्रिंटर डायरेक्टरी कनेक्ट हो जाता है। इसे कनेक्ट करना और उसके बाद इस्तेमाल करना सबसे आसान है।


अगर आप अपने प्रिंटर को डायरेक्ट अपने टैबलेट या स्मार्ट फोन के साथ जो़डना चाहते है तो यह थोडा मुश्किल होता है। इसका कारण यह है कि प्रिंटर बनाने वाली कंपनियां खास किस्म के स्मार्ट फोन या टैबलेट को ध्यान में रख कर कनेक्शन के फीचर नहीं बनाती है।

संयोग से अगर आपके प्रिंटर के लिए कोई एप्प बना हुआ है तब भी जरूरी नहीं है कि उसकी मदद से आप आसानी से अपने मोबाइल फोन के साथ प्रिंटर को जोड सकें। इसका तरीका यह है कि आप य तो अपने टैबलेट औऱ प्रिंटर दोनो को किसी एक्सेस प्वाइंट के साथ जोडे औऱ फिर तब दोनो के बीच प्रिंटिग कनेक्शन स्थापित करें। या दूसरा तरीका यहा है कि आप क्लाउड आधारित किसी प्रिंटिग यूटिलिटी का इस्तेमाल करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

In Feed